Tata Motors की जगह Tata Motors DVR लेने में बहुत फायदा क्यों है?

Tata Motors की जगह Tata Motors DVR लेने में बहुत फायदा है।

जब अपने स्टॉक मार्किट को समझना शरू किया होगा तो आपने जाना होंगे की 2 टाइप के शेयर होते है। 1 equity shares और 2 preference shares इसमें से equity shares में एक और टाइप है इसको हम कहते हे DVR share. Ex. Tata Motors DVR

Tata Motors को जब सर्च करते है तो आपको साथमे Tata Motors DVR सर्च में मिलता है। तो मैक्सिमम लोको के दिमागमे आता है की ये DVR share होता क्या है। DVR का मतलब क्या हे। तो DVR share को समझने के लिए हमको समझना होगा की voting rights क्या होता है। हमारे देशमे 18 साल के उपर के व्यक्ति को चुनाव में vote देने का अधिकार है। वैसेही equity shares holder को voting rights मिलते है। लेकिन इस voting rights का मतलब है की company के AGM में company के लिए ले जाने वाले फैसले पर vote देना।

DVR Share का मतलब Differential Voting Rights share एक ऐसा शेयर है जिसमें सामान्य शेयरों की तुलना में अलग-अलग मात्रा में वोटिंग अधिकार होते हैं। आम तौर पर जब आप कंपनी के शेयर के मालिक होते हैं तो आपको अपने शेयरों की मात्रा के अनुपात में वोटिंग अधिकार मिलते हैं लेकिन DVR में ये अधिकार अलग होते हैं। आम तौर पर DVR दो प्रकार के होते हैं :

Higher Voting Rights: आपको धारित शेयरों की संख्या से अधिक वोट मिलते हैं। उदाहरण के लिए- 1 शेयर के लिए 10 वोट (भारत में अनुमति नहीं है)।

Lower Voting Rights: आपके द्वारा रखे गए शेयरों की संख्या से आपको कम वोट मिलते हैं। उदाहरण के लिए- 10 शेयरों के लिए 1 वोट।

India में सबसे पहले DVR share लेन वाली कंपनी Tata Motors है।

Difference between Tata Motors vs Tata Motors DVR

Tata Motors share Tata Motors DVR
1 शेयर पर 1 वोट दे सकते है। 10 शेयर पर 1 वोट दे सकते है।
सामान्य मार्केट प्राइस पर मिलते है। सामान्य शेयर से 35% – 40% डिस्काउंट पर मिलता है।
सामान्य शेयर की तरह Dividend मिलता है। सामान्य शेयर से 5% ज्यादा Dividend मिलता है।

कंपनियों द्वारा DVR जारी करने के कारण

  1. शत्रुतापूर्ण अधिग्रहण की रोकथाम – कंपनी के प्रवर्तक निर्णय लेना चाहते हैं न कि किसी और को नियंत्रण देना चाहते हैं।
  2. वोटिंग अधिकारों की सुरक्षा कमजोर करना- कंपनी नहीं चाहती कि उसके वोटिंग अधिकार कई निवेशकों के बीच वितरित किए जाएं।
  3. निष्क्रिय रणनीतिक निवेशकों को लाना- निष्क्रिय निवेशकों को लाना जो लंबी अवधि के लिए निवेश करना और बैठना चाहते हैं।

DVR Share धारक को के लाभ

  1. Higher Dividend मिलता है।
  2. शेयरों को सामान्य शेयरों की तुलना में डिस्काउंट मूल्य पर पेश किया जाता है।
  3. यह उन retail investors के लिए आकर्षक है जो मतदान के अधिकार में रुचि नहीं रखते हैं।

DVR शेयर मे retail investors को ज्यादा लाभ

DVR शेयर मे retail investors को ज्यादा लाभ है। क्यों की small investors कंपनी के AGM में कभी वोट नहीं करते। कुछ लोगो को तो पता भी नहीं होता। इसके लिए small investors को कम rights मिले तो फर्क नहीं पड़ता। क्यों की normal share से ज्यादा Dividend तो मिल रहा है। share भी सस्ते में मिल रहे है। Growth भी इसिकी तरह है। तो प्रॉब्लम क्या है। तो इस हिसाब में आप DVR share खरीद सकते हो। आपकी इच्छा के अनुसार।

India में कोनसी कंपनी हे जिसने DVR Share listed है। आपको पता हो तो निचे comment box में जरूर बताये।

Note : दोस्तों ये सभी जानकारी सिर्फ एजुकेशन के हेतु से दी गयी है। कोई भी निर्णय लेने से पहले अपने Financial adviser (वित्तीय सलाहकार) से पूछे और फिर सही फ़ैसला ले।

Tata Motors vs Tata Motors DVR Latest News

Default image
Keyur Sojitra
Hey, welcome to the Hindiis. This is Keyur Sojitra. I'm the Author of Hindiis. i'm a Full Stack Software Developer. I blog about Tech Tips, SEO, Tutorial and Business related articles
Articles: 7

Leave a Reply