PM Modi Sarkari Yojana 2020 || टॉप 5 PM मोदी सरकारी योजनाएं 2020

दोस्तों स्वागत है आपका “Hindiis – हिंदी ज्ञान” पर| हम अपने सभी पाठकों तक केंद्र सरकार व राज्य सरकारों की सभी सरकारी योजनाओं की सम्पूर्ण जानकारी पहुँचाना चाहते हैं| अगर आप सभी का सहयोग रहा तो Hindiis ब्लॉग “Sarkari Yojana” केटेगरी में एक कामयाब ब्लॉग बन पायेगा |

आप देश के चाहे किसी भी राज्य, शहर या गाँव के क्यों न रहने वाले हों, हमारी कोशिश रहती है की केंद्र सरकार की नई स्कीम्स के अलावा, आपके राज्य की और गाँव एवं जिल्ला – तालुका की नई योजनाओं की जानकारी आप तक पहुंचती रहे | नई सरकारी योजनाओं के अलावा हम राशन कार्ड की जानकारी, ऑनलाइन सरकारी योजना में भाग कैसे लेना उन सब की जानकारी एवं अन्य कई विषयों पर भी समय समय पर लिखते रहते हैं | इस लिए अपना प्यार और सहयोग बनाये रखना ताकि हम और आत्मविश्वास के साथ आप तक Hindi में Sarkari योजनाए और कई सारी जानकारी पहुंचाते रहें |

भारत सरकार ने हाल ही में भारत के लोगों की बेहतरी के लिए विभिन्न योजनाएं शुरू की हैं। उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों के लिए एक अलग योजना बनाई है ताकि सभी नागरिक कुछ विशेषाधिकारों का आनंद ले सकें। 2020 में, पीएम मोदी द्वारा कई नई Sarkari Yojana लॉन्च की गई हैं। ये सभी अभी हमारे देश की आवश्यकता पर निर्भर हैं। यहां हमने 2020 की टॉप 5 सरकारी योजनाओं की जानकारी दी है|

1. राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन :

पीएम नरेन्द्र मोदी ने 15 अगस्त, 2020 को देश को अपने संबोधन में स्वास्थ्य क्षेत्र में क्रांति लाने के लिए राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के तहत सभी नागरिकों को स्वास्थ्य पहचान देने की घोषणा की थी। उन्होंने भारत के 74वें स्वतंत्रता दिन के शुभ दिन पर राष्ट्र को संबोधित किया था। ऐतिहासिक मिशन के शुभारंभ के साथ सभी नागरिकों को स्‍वास्‍थ्‍य पहचान पत्र दिये जाएंगे। राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन को NITI आयोग द्वारा 2018 में प्रस्तावित किया गया था। राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन प्रत्येक भारतीय नागरिक को देश भर में स्वास्थ्य सेवा से परेशानी मुक्त पहचान देगा। इस एकमात्र स्‍वास्‍थ्‍य पहचान पत्र में प्रत्‍येक जांच, सभी बीमारी, डॉक्‍टरों द्वारा दी गई दवाइयां, रिपोर्ट और संबंधित सूचनाएं रहेंगी.

राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन

पीएम नरेन्द्र मोदी ने बताया था कि राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के तहत, प्रत्येक भारतीय नागरिक को एक हेल्थ आईडी कार्ड कार्ड मिलेगा, जो हेल्थ अकाउंट के रूप में काम करेगा, जिसका उपयोग आईडी के रूप में किया जा सकता है। इसमें व्यक्ति की पिछली चिकित्सा स्थिति, उपचार और उचित निदान के बारे में सभी जानकारी शामिल होगी। यह लोगों को आसानी से जरूरतमंद लोगो को पहचानने में मदद करेगा और उन्हें केवल उस आईडी कार्ड को दिखाने से सभी सुविधाएं मिलेंगी।

2. अमृत मिशन योजना :

AMRUT(अमृत) का पूरा नाम Atal Mission for Rejuvenation and Urban Transformation (अटल मिशन ऑफ़ रेजूवेनेशन एंड अर्बन ट्रांसफोर्मेशन – अटल नवीकरण और शहरी परिवर्तन मिशन) है। Rejuvenation(कायाकल्प) और शहरी परिवर्तन योजना के लिए AMRUT योजना या अटल नवीकरण और शहरी परिवर्तन मिशन भारत के विभिन्न राज्यों के शहरी क्षेत्र के विकास के बारे में है। 13 अगस्त, 2020 को घोषणा के अनुसार, शहरी क्षेत्रों के सभी घरों में पाइप लाइन के माध्यम से पानी की आपूर्ति होगी। और भी अधिक विकसित निर्माण शहरी क्षेत्रों में होगा।

अमृत मिशन योजना

केंद्र सरकार ने देश के 500 शहरों का कायाकल्प करने के लिए शुरू की गयी अमृत मिशन का लक्ष्य दो साल बढ़ा दिया है। अमृत मिशन में मार्च 2020 तक 77,640 करोड़ रुपये खर्च किये जाने वाले हैं. इस रकम से देश के 500 शहरों में 139 लाख वॉटर कनेक्शन, 145 लाख सीवर कनेक्शन, स्टॉर्म वॉटर ट्रेनिंग प्रोजेक्ट, पार्क, हरियाली एवं स्ट्रीट लाइट सभी की व्यवस्था करनी है। अमृत मिशन में उन कस्बों या क्षेत्रों को चुना गया है जहां बुनियादी सुविधाएं जैसे- बिजली, पानी की सप्लाई, गंदा नाला(सीवर), कूड़ा प्रबंधन, वर्षा जल संचयन, ट्रांसपोर्ट, बच्चों और वृद्धो के लिये पार्क, अच्छी सड़क और चारों तरफ हरियाली, आदि की कमी है. इन सुविधाओं को विकसित करने के लिए अमृत मिशन की शुरुआत हुई थी.

3. कुम्हार सशक्तिकरण योजना :

इस सरकारी योजना के अनुसार, सभी कुम्हारों को अभिनव उत्पादन बनाने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए बिजली के बर्तनों के पहिये दिए जाएंगे। भारत सरकार द्वारा सभी बर्तनों के विशेषज्ञों को उनके जीवन में प्रगति के लिए सशक्त बनाने के लिए यह एक बड़ी पहल है। कुम्हार सशक्तिकरण योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 1 जून, 2020 कुम्हारो को रोजगार प्रदान करने के उद्देश्य से शुरू की गयी है।

कुम्हार सशक्तिकरण योजना

इस योजना का लाभ लेने के लिए इन जरूरी दस्तावेज की जरुरत होगी :

  1. आधार कार्ड।
  2. स्थायी प्रमाण पत्र।
  3. जाति प्रमाण पत्र।
  4. बैंक खाता।
  5. पासपोर्ट साइज फोटो।

कुम्हार सशक्तिकरण योजना की पात्रता :

  1. इस योजना का लाभ ऐसे उमेदवारो को प्रदान किया जाएगा, जिनकी उम्र 18 साल से 50 साल के बिच में होगी|
  2. 50% तक अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और पिछड़ी जाति के लाभार्थियों को लाभ प्रदान किया जाएगा |
  3. स्थानीय कच्चे माल की उपलब्धता का आकलन करके सिलेक्टेड व्यक्तियों के लिए ग्राम उद्योग यूनिट निर्धारित की जाएगी |
  4. स्थानीय उपभोक्ताओं की दैनिक आवश्यकताओं की वस्तुओं के उत्पादन करने संबंधी यूनिट स्थापित करने के लिए प्राथमिकता प्रदान की जाएगी।

4. पीएम स्वनिधि योजना (PM SVANidhi Yojana) :

स्वनिधि योजना पीएम नरेन्द्र मोदी के द्वारा 1 जून, 2020 को रेहड़ी – पटरी वालो (स्ट्रीट वेंडर्स – फेरीवाले) को लोन प्रदान करने के उदेश्य से शुरू की गयी है| 12 अगस्त, 2020 को पीएम मोदी द्वारा घोषित की गई इस योजना के अनुसार, देश में ग्रामीण और शहरी सड़को के किनारे स्ट्रीटवेंडर्स (फेरीवाले) जो फल, सब्जियाँ बेचते हैं या रेहड़ी पर छोटी-मोटी दुकान लगाते हैं वे इस SVANidhi Yojana के तहत सरकार द्वारा 10000 रूपये का लोन प्राप्त कर सकते है, ताकि वे आत्मनिर्भर बन सकें। रिपोर्टों के अनुसार, लगभग 5 लाख स्ट्रीटवेंडर्स (फेरीवाले) ने इस योजना के लिए आवेदन किया है और उनमें से ज्यादातर पहले से ही भारत सरकार द्वारा स्वीकृत हैं।

पीएम स्वनिधि योजना (PM SVANidhi Yojana)

सरकार द्वारा लिया गया यह ऋण रेहड़ी पटरी वाले लोगो को एक साल के अंदर इन्सटॉलमेंट (किस्त) में लौटाना होगा | देश के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें इस योजना के तहत आवेदन करना होगा | स्ट्रीटवेंडर्स (फेरीवाले) स्वनिधि योजना के अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों में वेंडर, हॉकर, ठेले वाले, रेहड़ी वाले, ठेली फलवाले आदि सहित 50 लाख से अधिक लोगों को इस योजना से लाभ प्रदान किया जायेगा |

5. ई-संजीवनी टेली मेडिसिन सेवा प्लेटफार्म :

भारत सरकार ने ऑनलाइन Consultation(परामर्श) के साथ लोगों की मदद करने के लिए दवा के लिए ऑनलाइन मंच शुरू किया। ई-संजीवनी सेवा पूरे भारत में 27 राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों में सभी के लिए सुलभ कराई गई है और 1.58 लाख ऑनलाइन Consultation(परामर्श) इस वेब-आधारित एप्लिकेशन के माध्यम से किया जाएगा। यह टेली मेडिसिन सेवा प्लेटफार्म भारत में लगभग 75% लोगों को सुनिश्चित करने में मदद करेगा। इस डिजिटल प्‍लेटफॉर्म पर 6000 से अधिक डॉक्‍टरों के माध्‍यम से ई-स्‍वास्‍थ्‍य Consultation(परामर्श) सेवाएं प्रदान की गयी हैं। इसके द्वारा 217 ऑनलाइन ओपीडी को मरीजों और डॉक्‍टरों के साथ जोड़ा गया है।

ई-संजीवनी टेली मेडिसिन सेवा प्लेटफार्म

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय द्वारा 13 अप्रैल, 2020 को पहले लॉकडाउन के दौरान ई-संजीवनी टेलीमेडिसिन सेवा ऐसे समय में शुरू की गई थी जब देश भर के अस्‍पतालों में ओपीडी सेवा बंद कर दी गई थी। स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय ने ई-संजीवनी टेलीमेडिसिन सेवा नवम्‍बर, 2019 में शुरू की थी। यह सेवा दिसम्‍बर 2022 तक ‘Hub & Spoke Model (हब एंड स्‍पोक मॉडल)’ के रूप में भारत सरकार के आयुष्‍मान भारत योजना के तहत 1,55,000 स्‍वास्‍थ्‍य और आरोग्‍य केन्‍द्रों पर उपलब्‍ध कराई जाएगी। इस समय यह सेवा आयुष्‍मान भारत योजना के तहत लगभग 4000 स्‍वास्‍थ्‍य और आरोग्‍य केन्‍द्रों पर उपलब्‍ध कराई जा रही है। अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य और आरोग्‍य केन्‍द्रों में भी इसे शुरू करने का काम प्रगति पर है।

PM Modi Sarkari Yojana 2020 || टॉप 5 PM मोदी सरकारी योजनाएं 2020 :

उम्मीद है आपको Sarkari Yojana 2020 की सारी जानकारी मिल गयी होगी। अगर आपको इसी संबधित कोई भी जानकारी चाहिए, आप मुझे पूछ सकते हो. जितना हो सके में हेल्प करने की कोसिस करूँगा. अगर आपको यह लेख अच्छा लगा तो उसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और अगर उन्हें हमारे ब्लॉग से कोई मदद मिलती है तो उन तक पहोचाहिये। धन्यवाद !

Default image
Dakshit Ranpariya
Hey there, Welcome to Hindiis. My name is Dakshit Ranpariya. I'm the Author & Founder of Hindiis. By the way, I’m a student of BCA Computer Science. Here, I blog about Technology, Make Money Online, Blogging, IPO News, SEO, Tutorials, Entertainment and Stock Market. For more information, Follow me on social media and stay connected with me.
Articles: 118

Leave a Reply