पाइथन क्या है और क्यों सीखें?

Introduction of Python

कंप्यूटर और मोबाइल फ़ोन पर रन होने वाले जितने भी एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर होते है वह किसी न किसी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के द्वारा बनाये गए होते है।

आज के समय में आपको बहोत सारे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज देखने को मिल जायेंगे, जैसे C, C++, Java, इत्यादि। यह सभी कंप्यूटर languages होते है, जो मनुष्य द्वारा लिखे और समझे जाते है।

हर लैंग्वेज के अलग अलग फीचर्स होते है, जो इन्हे एक दूसरे से अलग बनाते है। जैसे जैसे तकनीकी दुनिया में बदलाव होते जा रहे है वैसे वैसे इन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में भी कई बदलाव देखने को मिल रहे है। जो users को बेहतरीन फीचर्स प्रदान करते है।

ऐसे ही एक लैंग्वेज है Python, फ्रेंड्स अगर आप प्रोग्रामर है या प्रोग्रामर बनना चाहते हैं तो आपने पाइथन का नाम तो जरूर सुना होगा। Python को प्रोग्रामिंग कम्युनिटी इंडेक्स द्वारा दुनिया के 10 लोकप्रिय लैंग्वेज में सबसे ऊपर के स्थान का दर्जा दिया गया है।

What is Python (Python tutorial) | Python ranking in the World

आप इसी से अंदाजा लगा सकते है की यह लैंग्वेज कितनी बेहतरीन है। दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में पाइथन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में सारी जानकारी आपको देने जा रहे है।

तो दोस्तों में इस आर्टिकल में discuss करने वाला हूँ की What is Python and Why learn Python?(पाइथन क्या है और हमें पाइथन क्यों सीखना चाहिए)। तो चलिए सबसे पहले हम जानेंगे की पाइथन क्या है?

What is Python (पाइथन क्या है?)

दोस्तों, पाइथन एक Open Source, Object-oriented programming(ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड), High Level, Interpreted और General Purpose प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है, जिसका इस्तेमाल करना बेहद आसान है, साथ ही यह बहोत ही पॉवरफुल लैंग्वेज भी मानी जाती है।

Python एक बहोत ही बेहतरीन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है, जिसकी मदद से बहोत तेज़ी से एप्लीकेशन और वेबसाइट को बनाया जा सकता है।

पाइथन का इस्तेमाल हैकिंग (Hacking), डाटा साइंस (Data science), मशीन लर्निंग (Machine Learning), Data analysis, आर्टिफिशल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence), सिस्टम ऑटोमेशन (System automation), Computer graphics, Server-side Programming, Website development, Application development और Web application बनाने के लिए किया जाता है।

यह पाइथन लैंग्वेज C, C++ और Java की तरह ही एक प्रोग्रामिंग भाषा है, लेकिन यह बाकि भाषाओ के मुकाबले में बहोत ही आसान लैंग्वेज लगती है।

दोस्तों अगर आप प्रोग्रामिंग सीखना चाहते है और As a first language आपने पाइथन को चुना है। तो में कहूँगा ये decision एकदम सही है, क्योंकि पाइथन के सिंटेक्स (syntax) बहोत ही विशिष्ट और यूनिक है। जो इस भाषा को यूजर के लिए पढ़ने और समझने योग्य बनाता है।

अलग अलग डेवेलपर्स पाइथन लैंग्वेज के कोड को पढ़ कर ट्रांसलेट भी कर सकते है, जो दूसरी भाषा के मुकाबले बहोत ही आसान होता है।

यह लैंग्वेज एकदम English लैंग्वेज की तरह है, तो नए शिक्षार्थियों के लिए ये सीखना बहोत ही आसान होगा। शायद यही कारण है की बहोत सारे स्कूल्स और कॉलेज भी प्रोग्रामिंग सिखाने के लिए पाइथन का उपयोग करते है।

और दोस्तों अब हम जानेंगे पाइथन के इतिहास के बारे में :

History of Python (पायथन का इतिहास)

पाइथन का अविष्कार Netherlands के Guido Van Rossum (डच कंप्यूटर प्रोग्रामर) द्वारा किया गया था। पाइथन की शुरुआत 1980 में हुई और क़रीब 10 साल बाद 1991 में पाइथन को लॉन्च किया गया।

January 1994 में Python का पहला Version Python 1.0 निकाला गया था।

इसका दूसरा Version Python 2.0 अक्टूबर 2000 में जारी किया गया।

और इसका तीसरा Version Python 3.0 एक बड़े लम्बे समय के बाद दिसम्बर 2008 में जारी किया गया था।

Python का नया Version ‘Python 3.9.4‘ अप्रैल 4, 2021 में रिलीज़ किया गया है।

इस भाषा को इस तरह से बनाया गया है की इसके कोड को आसानी से पढ़े और समझे जा सकते है। इसकी और खासियत है की इसे सिखने के लिए हमे कोई भी पैसा देने की जरुरत नहीं है, और इसके लिए किसी भी लाइसेंस की भी जरूरत नहीं पड़ती।

इस भाषा का नाम python क्यों रखा गया?

और दोस्तों आप यह भी सोच रहे होंगे की आखिर ‘इस भाषा का नाम python क्यों रखा गया?‘, जबकि यह एक सांप की प्रजाति का नाम है। दरअसल पाइथन के नाम की उत्पत्ति एक comedy show के नाम से हुई थी।

जो 1970 के दशक में BBC Comedy Series द्वारा एक script प्रकाशित हुई थी, जिसका नाम था, “Monty Python’s FLYING CIRCUS. इससे प्रभावित हो कर Guido Van Rossum ने अपनी भाषा का नाम Python रख दिया।

पाइथन लैंग्वेज Modules और packages के उपयोग का सपोर्ट करता है। इसका मतलब है इस लैंग्वेज में जो प्रोग्राम लिखे जाते है वह Modules स्टाइल में जाते है। जो अलग अलग प्रकार के महत्वपूर्ण टास्क (कार्य) परफॉर्म करने के लिए बनाये गए होते है।

इन Modules का उपयोग दूसरे प्रोजेक्ट्स के काम में भी किया जा सकता है और इन्हे import या export करना बहोत आसान होता है।

पाइथन में डायनामिक Tab सिस्टम और आटोमेटिक मेमॉरी मैनेजमेंट सिस्टम की सुविधा उपलब्ध रहती है। इसी वजह से प्रोग्राम के मेंटेनन्स और डेवलपमेंट का खर्च भी बहोत कम होता है। और पाइथन लैंग्वेज पर काम कर रही टीम को एकदूसरे के सहयोग के साथ काम करने का मौका भी मिलता है।

पावरफुल लैंग्वेज होने की वजह से पाइथन का इस्तेमाल बहोत सी बड़ी कंपनिया द्वारा किया जा रहा है।

दोस्तों वैसे तो बहोत सारी कंपनीज है जो पाइथन लैंग्वेज का उपयोग करती है परंतु में आपको बताने वाला हूँ कुछ ऐसी बड़ी कंपनीज जो पाइथन का उपयोग करती है।

10 विश्व स्तरीय सॉफ्टवेयर कंपनियां जो पायथन का उपयोग करती हैं :

1. Industrial Light and Magic
2. Google
3. Facebook
4. Instagram
5. Spotify
6. Quora
7. Netflix
8. Dropbox
9. Reddit
10. NASA

Why learn Python (पाइथन हमे क्यों सीखनी चाहिए?)

और दोस्तों अब हम आगे बढ़ते है और जानते है पाइथन हमे क्यों सीखनी चाहिए?, पाइथन का उपयोग क्यों किया जाता है? और आखिर पाइथन में ऐसा क्या है जो वर्तमान समय में पाइथन इतना पॉपुलर लैंग्वेज बन चूका है।

1. Easy Programming Language :

दोस्तों पाइथन एक हाई प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है फिरभी इसके कोड और सिंटैक्स एकदम आसान है। पाइथन लिखने में एकदम इंग्लिश भाषा की तरह ही आसान है। इसलिए सारे प्रोग्रामर्स, चाहे वो नए हो या पुराने हो, उनको कोडिंग करने में और कोडिंग सिखने में बहोत ही आसानी होती है।

और वो इस पाइथन लैंग्वेज में अपने आप को ज्यादा कम्फर्टेबल समझते है। इसलिए ज्यादातर प्रोग्रामर्स पाइथन की और देखते है और वह लोग अपनी आगे की प्रोग्रामिंग भी पाइथन में करना ही चाहते है।

2. Interpreted Language :

दोस्तों अगर आप प्रोग्रामिंग जानते है तो आपको पता होगा की किसी भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में कोड को Execute (कार्यान्वित) करने के लिए उसमे Compiler (कम्पाइलर) की बहोत जरूरत होती है। without कम्पाइलर कोई भी प्रोग्राम एक्सेक्यूट नहीं हो पाता है।

तो पाइथन एक ऐसी लैंग्वेज है जिसमे कम्पाइलर की कोई जरुरत नहीं होती, जैसे जैसे आप कोड लिखते है, वह लाइन by लाइन execute होता रहता है।

3. Cross Platform Language :

ज्यादातर लोग अपनी प्रोग्रामिंग Windows ऑपरेटिंग सिस्टम में लिखते है, और वह लैंग्वेज को दूसरी ऑपरेटिंग सिस्टम में चलाने के लिए उसमे फेरफार करना पड़ता है।

पाइथन एकलौती ऐसी लैंग्वेज है जो आपने अगर Windows पे लिखी है, तो वह दूसरी ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे की Linux या Mac OS पर भी उसी तरीके से वर्क करता है।

4. Extensible/Embedded Language :

Python एक पूरी तरह से Extensible/Embedded Language है। अर्थात आप पाइथन के कोड को किसी भी दूसरी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के कोड के अंदर चला सकते है और किसी दूसरी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के कोड को पाइथन के Source Code के अंदर डाले जा सकते है।

Python को दूसरी भाषा C और C++ के साथ आसानी से integrate (एकीकृत) किया जा सकता है। तो ये भी एक बहोत ही अच्छा फीचर है जिसकी वजह से सारे प्रोग्रामर्स पाइथन की और अट्रेक्ट हो रहे है।

5. Large Standard Library :

पाइथन की स्टैंडर्ड लाइब्रेरी बहोत बहोत सारे इंटरनेट प्रोटोकॉल्स को सपोर्ट करती है, जैसे html, xml, json, IMAP, ftp, इत्यादि।
लार्ज स्टैंडर्ड लाइब्रेरी का मतलब है बहोत सारे कोड्स, बहोत सारे मॉड्यूल्स (modules) पाइथन के अंदर बने बनाये पहलेसे ही मौजूद है, जिनका हमे उपयोग करना होता है।

कहने का भावार्थ यह है की आपको पाइथन के अंदर कोई भी कोड Execute करने के लिए, आपको दूसरी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की तुलना में पाइथन में बहोत ही कम प्रोग्राम या कोड लिखना पड़ता है।

6. Artificial Intelligence (AI) & Machine Learning :

अगर आप AI यानी Artificial Intelligence (आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस – कृत्रिम बुद्धिमत्ता) और Machine Learning (मशीन लर्निंग) में दिलचस्प है, तो आपको पाइथन जरूर सीखनी चाहिए।

क्योकि AI और Machine Learning के लिए पाइथन एक बहोत ही महत्वपूर्ण लैंग्वेज है, और आप जानते ही है, AI और Machine Learning ही भविष्य है तो हम कह सकते है की पाइथन एक Future लैंग्वेज है।

7. Platform Independent :

Python Open Source होने के कारण कई Platform पर उपलब्ध है। जैसे Linux, Windows और Mac OS. Python का कोड आसानी से किसी भी प्लेटफार्म पर चलता है।

इसलिए अगर आप पाइथन का कोड किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम पर लिखते है तो आप उस प्रोग्राम को दूसरे ऑपरेटिंग सिस्टम में भी बिना किसी समस्या के Run कर सकते है। अलग अलग ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए अलग अलग कोड लिखने की जरूरत नहीं होती है।

Resources to learn Python Language :

पाइथन एक ऐसी लैंग्वेज है जो घर बैठे ही अपने कंप्यूटर या फ़ोन पर सीखी जा सकती है, तो में आपको यह सुझाव नहीं दूंगा की आप कोचिंग क्लास जॉइन करके वहाँ से सीखे।

बल्कि में suggest करूंगा की आप ऑनलाइन ही पाइथन को सीखे। तो में कुछ ऐसी वेबसाइट बताऊंगा जो आपको beginner to advanced python programming सिखाएगी।

गूगल पर आपको ऐसी बहोत सारी वेबसाइट मिल जायेगी जो अपना paid कोर्स जॉइन करवाएगी लेकिन में आपको वह suggest नहीं करूंगा। में आपको ऐसी बहोत सारी वेबसाइट बताऊंगा जो फ्री में आपको पाइथन सीखा देंगी।

Python Language सीखने के कुछ Resources-

Python Hindi Tutorials:

Hindilearn.in

Python English Tutorials:

Learnpython.org
Realpython.com
Codecademy.com
w3schools.com
Sololearn.com

Python Video Tutorials:

CodeWithHarry
CS Geeks
Harshit vashisth
MysirG.com

Conclusion (What is Python and Why learn Python)

तो दोस्तों आशा है की इस आर्टिकल के माध्यम से आपको पाइथन क्या है इसका उपयोग कैसे किया जाता है और क्यों किया जाता है और इसके फीचर्स से जुडी सारी जानकारी आपको मिल गयी होंगी।

मेरी हमेशां से यही कोशिश रहती है, हमारे आर्टिकल्स के द्वारा आपको दिए गए विषय पूरी जानकारी प्राप्त हो सके, ताकि आपको कहीं ओर जाना न पड़े।

मुझे उम्मीद है की इस आर्टिकल में दी गयी माहिती आपके लिए बहोत उपयोगी होगी, इस आर्टिकल से जुडी कोई भी परेशानी हो तो आप हमे मेइल (E-mail) या निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमारा संपर्क कर सकते है, ताकि हम आपकी परेशानी को जल्द से जल्द दूर कर सके।

अगर आपको यह लेख या जानकारी पसंद आयी हो तो अपने फ्रेंड्स और ग्रुप्स में शेयर करे ताकि बाकि लोगो को भी लाभ हो, शुक्रिया

Default image
Dakshit Ranpariya
Hey there, Welcome to Hindiis. My name is Dakshit Ranpariya. I'm the Author & Founder of Hindiis. By the way, I’m a student of BCA Computer Science. Here, I blog about Technology, Make Money Online, Blogging, IPO News, SEO, Tutorials, Entertainment and Stock Market. For more information, Follow me on social media and stay connected with me.
Articles: 118

One comment

  1. Hurrah! In the end I got a webpage from where I can truly take valuable facts concerning my study and
    knowledge.

Leave a Reply